Madam, The aim of my question is to get other ending othe story neta ji ka chasma which was asked earlier but not answered . Please answer it as soon as possible as i really need it today

Asked by saketagarwal.dbl | 4th Nov, 2016, 05:21: PM

Expert Answer:

नेताजी का चश्मा - कैप्टन की मृत्यु के पश्चात नेताजी की मूर्ति पर चश्मा बदलने वाला जब कोई नहीं रह जाता तब कस्बे के लोगों को और नगरपालिका को अपनी गलती का अहसास होता है और वे नेताजी की मूर्ति के लिए संगमरमर के चश्में का निर्माण करवाते हैं।
या
कैप्टन की मृत्यु के पश्चात कस्बे के बच्चे अपने-अपने घरों से पैसे जमा करते हैं और अपने ड्राइंग मास्टर के पास पहुँचते हैं और नेताजी की मूर्ति के लिए चश्मा बनवाने का आग्रह करते हैं। बच्चों की इस देशभक्ति को देखकर मास्टर साहब की आँखें भर आती है और वे बच्चों से वादा करते हैं कि जल्द-से जल्द वे नेताजी के लिए चश्मा बनवा देंगे।
या
कैप्टन की कैप्टन की मृत्यु के पश्चात जब हालदार साहब कस्बे से गुजरते हैं तो वे देखते हैं कि कुछ बच्चे नेताजी की मूर्ति के आगे खड़े हैं और एक बच्चा उन्हें सरकंडे से बना चश्मा पहना रहा है। ये देखकर हालदार साहब अति भावुक हो उठते हैं और अगले बार वे जब उस कस्बे में आते हैं तो अपने साथ नेताजी के लिए संगमरमर का स्थायी चश्मा बनवाकर ले आते हैं। 

Answered by Beena Thapliyal | 5th Nov, 2016, 09:42: AM

Queries asked on Sunday & after 7pm from Monday to Saturday will be answered after 12pm the next working day.