Request a call back

Join NOW to get access to exclusive study material for best results

Class 9 EVERGREEN PUBLICATION Solutions Hindi Chapter 8 - Bhikshuk [Poem]

CHAPTER 8

Bhikshuk [Poem] Exercise प्रश्न-अभ्यास

Solution क-i

भिक्षुक लोगों से अपनी क्षुधा शान्त करने के लिए मुट्ठी दो मुट्ठी अनाज माँग रहा है। 

Solution क-ii

भिक्षुक की झोली फटी-पुरानी है। 

Solution क-iii

भिक्षुक कितना दुर्बल है, इसका सहज ही अनुमान उसका पेट और पीठ देखकर लगाया जा सकता है। काफी समय से भोजन न मिलने के कारण उसके पेट-पीठ एक जैसे हो चुके हैं। वह बुढ़ापे और दुर्बलता के कारण लाठी के सहारे चल रहा है। 

Solution क-iv

टूक - टुकड़े 

पथ - रास्ता  

लकूटिया - लाठी, लाठिया  

Solution ख-i

भिक्षुक भूख के मारे व्याकुल है, साथ में उसके बच्चे भी हैं। भिक्षुक शरीर से भी दुर्बल है। भीख में जब उसे कुछ नहीं मिलता तब वह आँसुओं के घूँट पी जाता है। 

Solution ख-ii

भिक्षुक को जब कुछ नहीं मिलता तो वे जूठी पत्तलें चाटने के लिए विवश हो जाते हैं। जूठी पत्तलों में जो कुछ थोड़ा बहुत अन्न बचा था वे उसी को खाकर अपनी भूख शांत करने का प्रयास करते हैं।

Solution ख-iii

उपर्युक्त पंक्ति का आशय भूख की विवशता से है। भिक्षुक जब सड़क पर खड़े होकर जूठी पत्तलों को चाटकर अपनी भूख को मिटाने का प्रयास कर रहे थे तब सड़क के कुत्ते भी उन्हीं पत्तलों को पाने के लिए भिक्षुक पर झपट पड़े थे। 

Solution ख-iv

ओंठ - ओष्ठ 

सड़क - मार्ग 

कुत्ते - श्वान 

झपट - छिनना 

आँसू - अश्रु 

विधाता - ईश्वर 

Start your hassle free Education Franchisee and grow your business!

Know more
×