EVERGREEN PUBLICATION Solutions for Class 10 Hindi Chapter 7 - Vinay Ke Pad [Poem]

Chapter 7 - Vinay Ke Pad [Poem] प्रश्न-अभ्यास

Solution क-i

तुलसीदासजी भगवान श्री राम के भजन के लिए कह रहे हैं 

Solution क-ii

श्री राम ने जटायु जैसे सामान्य गीध पक्षी और शबरी जैसी सामान्य स्त्री को परम गति प्रदान की। 

Solution क-iii

रावण ने भगवान शंकर को अपने दस सिर अर्पण करके वैभव की प्राप्ति की। 

Solution क-iv

रावण ने जो संपत्ति अपने दस सिर अर्पण करके प्राप्त की थी उसे श्री राम ने अत्यंत संकोच के साथ विभीषण को दे दी। 

Solution ख-i

कवि के अनुसार जिन लोगों के प्रिय राम-जानकी जी नहीं है उनका त्याग करना चाहिए। 

Solution ख-ii

प्रह्लाद ने अपने पिता हिरण्यकशिपु को, विभीषण ने अपने भाई रावण को, बलि ने अपने गुरु शुक्राचार्य को और ब्रज की गोपियों ने अपने-अपने पतियों को भगवान प्राप्ति को बाधक समझकर त्याग दिया। 

Solution ख-iii

नहीं जिस अंजन को लगाने से आँखें फूट जाएँ वो किसी काम का नहीं होता है। 

Solution ख-iv

उपर्युक्त पद द्वारा तुलसीदास श्री राम की भक्ति का संदेश दे रहे है। तथा भगवान प्राप्ति के लिए त्याग करने को भी प्रेरित कर रहे हैं।