Please wait...
Contact Us
Contact
Need assistance? Contact us on below numbers

For Enquiry

10:00 AM to 7:00 PM IST all days.

Business Inquiry (North)

Business Inquiry (West / East / South)

OR

or

Thanks, You will receive a call shortly.
Customer Support

You are very important to us

For any content/service related issues please contact on this number

022-62211530

Mon to Sat - 10 AM to 7 PM

Aupacharic pathr lekhan to principal

Asked by chi.haritha 27th March 2019, 10:01 AM
Answered by Expert
Answer:

हम आपको औपचारिक पत्र का एक उदहारण दे रहे हैं उसे आधार बनाकर आप अन्य पत्रों को लिखने का प्रयास करें।     

अनजाने में हुई किसी चूक के कारण आपको विद्यालय द्वारा दंडित किया गया है। पत्र द्वारा अपनी स्थिति स्पष्ट करते हुए प्रधानाचार्य महोदय को दंड क्षमा करने को अनुरोध कीजिए।                                                   

सेवा में,

प्रधानाचार्य

आदर्श शिशु विहार

जयपुर

दिनाँक : 1 मार्च 200

विषय: क्षमायाचन पत्र।

महोदय

मुझसे भूलवश कक्षा की खिड़की का शीशा टूट गया था। मैं अपने मित्रों के साथ कक्षा में गेंद से खेल रहा था। अचानक गेंद शीशे पर जा लगी जिससे शीशा टूट गया। मुझे कक्षा में नहीं खेलना चाहिए था। मैं भविष्य में ऐसा नहीं करूँगा। मैं अपनी भूल स्वीकार करता हूँ। कृपया मेरे इस कृत्य को क्षमा करें।

आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि आप मुझे क्षमा कर देंगे।

आपका आज्ञाकारी छात्र

सौरभ गुप्ता

कक्षा – नौवीं

अनुक्रमांक 12

Answered by Expert 27th March 2019, 11:39 AM
Rate this answer
  • 1
  • 2
  • 3
  • 4
  • 5
  • 6
  • 7
  • 8
  • 9
  • 10

You have rated this answer /10

Your answer has been posted successfully!

Latest Questions

CBSE XII Commerce Accountancy
Asked by ravimundrakd 10th April 2020, 12:54 AM
CBSE IX Civics
Asked by kishorkumarmdp1983 9th April 2020, 11:21 PM
ICSE VIII Geography Asia - Resources and their Utilisation
Asked by Molaypaul700 9th April 2020, 10:39 PM

Chat with us on WhatsApp