give me some notes of sanchar and its type,patrakarita

Asked by anu Mishra | 27th Jan, 2016, 06:54: PM

Expert Answer:

संचार माध्यम, अंग्रेजी के "मीडिया" (मिडियम का बहुवचन) से बना है, जिसका अभिप्राय होता है दो बिंदुओं को जोड़ने वाला। संचार माध्यम ही संप्रेषक और श्रोता को परस्पर जोड़ते हैं। हेराल्ड लॉसवेल के अनुसार, संचार माध्यम के मुख्य कार्य सूचना संग्रह एवं प्रसार, सूचना विश्लेषण, सामाजिक मूल्य एवं ज्ञान का संप्रेषण तथा लोगों का मनोरंजन करना है।

समूह संचार का वृहद रूप है- जनसंचार। इस शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग 19 वीं सदी के तीसरे दशक के अंतिम दौर में संदेश सम्प्रेषण के लिए किया गया। संचार क्रांति के क्षेत्र में तरक्की के कारण जैसे-जैसे समाचार पत्र, रेडियो, टेलीविजन, केबल, इंटरनेट, वेब पोर्टल्स इत्यादि का प्रयोग बढ़ता गया, वैसे-वैसे जनसंचार के क्षेत्र का विस्तार होता गया।

विकासशील देशों में समाज के समक्ष अनेकों प्रकार की समस्याएँ आती हैं। देश को निरन्तर प्रगतिशील बनाये रखने के लिए समाज की उन समस्याओं का निवारण अत्यन्त आवश्यक होता है। ऐसे में उन समस्याओं के निवारण हेतु स्वरस्थ पत्रकारिता से बहुत मदद मिल सकती है। समाज की समस्याओं के निवारण में सहायक होने के कारण पत्रकारिता का महत्व बहुत बढ़ जाता है।

पत्रकारिता के प्रमुख रूप:

  • राष्ट्र व समाज में सांस्कृतिक, साहित्यिक, औ़द्योगिक आदि सर्वांगीण विकास को बढावा देना।
  • राष्ट्रीय एकता को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाना।
  • स्वस्थ जनमत का निर्माण – समाचारों, समीक्षाओं, आलेखों, आलोचनाओं के द्वारा।
  • समाज के व्यक्तियों के बीच वैचारिक आदान-प्रदान का सशक्त माध्यम बनना।
  • राष्ट्र और समाज के लोगों का स्वस्थ मनोरंजन का साधन उपलब्ध कराना।

Answered by  | 27th Jan, 2016, 07:32: PM

Queries asked on Sunday & after 7pm from Monday to Saturday will be answered after 12pm the next working day.